Best 3 Raksha Bandhan Essay 2021 In Hindi

दोस्तों हमारी तरफ से आपको और आपके परिवार को रक्षाबंधन की हार्दिक शुभकामनाएं| रक्षाबंधन पूरे भारत में लोग बहुत खुशी से मनाते हैं| विद्यालयों में सभी कक्षा 1,2,3,4,5,6,7,8,9,10,11,12 के Students के साथ College के Students को भी रक्षाबंधन पर निबंध दिया जाता हैं| आज हम आपके लिये Raksha Bandhan Essay ले कर आये हैं जो आपको बहुत पसंद आयेंगे|

अगर आप भी Raksha Bandhan Essay लिखना या किसी को भेजना चाहतें हैं तो तो निचे दिए गए Best 3 Raksha Bandhan Essay 2021 In Hindi में से इसका चुनाव कर सकते हैं|

Best 3 Raksha Bandhan Essay 2021 In Hindi

Raksha Bandhan Essay
Raksha Bandhan Essay

200 Words Essay

रक्षाबंधन (Raksha Bandhan) का त्योंहार हर साल श्रावण पूर्णिमा के दिन मनाया जाता हैं| रक्षाबंधन का यह त्योंहार भाई बहन के प्रेम और कर्तव्य के सम्बन्ध को दर्शाता हैं| रक्षाबंधन पर बहन अपने भाई को राखी बांधती हैं| भाई अपनी बहन को सदैव साथ निभाने और उसकी रक्षा के लिए आश्वस्त करता है यह परम्परा हमारे भारत में काफी प्रचलित हैं| आज ही के दिन यागोपवीत बदला जाता हैं|

आज कई भाइयों की कलाई पर राखी सिर्फ इसलिए नहीं बंध पाती क्योंकि उनकी बहनों को उनके माता – पिता ने इस दुनिया में आने ही नहीं दिया| यह बहुत ही शर्मनाक बात हैं की जिस देश में कन्या पूजन का विधान शास्त्रो में हैं वंही कन्या भूर्ण हत्या के मामले सामने आते हैं हैं| यह त्योंहार हमें यह भी याद दिलाता हैं कि बहनें हमारें जीवन में कितना महत्व रखती हैं|

भाइयों और बहनों के रक्षाबंधन का एक विशेष महत्व है| यह त्योंहार सिर्फ सामान्य लोगों द्वरा ही नहीं मनाया जाता हैं बल्कि इसे देवी देवताओं द्वरा भी भाई बहन के इस पवित्र रिश्ते को कायम रखने के लिए मनाया जाता हैं| हमें इस महान और पवित्र त्योंहार के आदर्श की रक्षा करते हुए नैतिक भावों के साथ खुशी खुशी मनाना चाहिए|

Best Essay On Independence Day In Hindi 2021

Diwali Essay In Hindi

Vijayadashami Essay In Hindi

 

400 Words Essay

प्रस्तावना
रक्षाबंधन (Raksha Bandhan) भाई बहनों का वह त्योंहार हैं जो मुख्यतः हिन्दुओ में प्रचलित हैं पर इसे भारत के सभी धर्मो के लोग समान उत्साह और भाव से मनाते हैं| हिन्दू श्रावण मास के पूर्णिमा के दिन मनाया जाने वाला यह त्योंहार भाई का बहन के प्रति प्यार का प्रतीक हैं| रक्षाबंधन पर बहनें भाइयों की दाहिनी कलाई में राखी बांधती हैं उनका तिलक करती हैं और उनसे अपनी रक्षा का संकल्प लेती हैं|

रक्षाबंधन का महत्व
इतिहास में रक्षाबंधन (Raksha Bandhan) का के महत्व के अनेक उल्लेख मिलते हैं| मेवाड़ की महारानी कर्मावती ने मुग़ल रजा हुमायूँ को राखी भेज कर रक्षा याचना की थी| हुमायूँ ने मुसलमान होते हुए भी राखी की लाज रखी|

कहते हैं,सिकन्दर की पत्नी ने अपने पति के हिन्दू शत्रु पुरु को राखी बांधकर उसे अपना भाई बनाया था और युद्ध के समय सिकन्दर को न मारने का वचन लिया था| पुरु ने युद्ध के दौरान हाथ में बंधी राखी का और अपनी बहन को दिए हुए वचन का सम्मान करते हुए सिकन्दर को जीवनदान दिया था|

राखी का आधुनिकीकरण
रक्षाबंधन (Raksha Bandhan) में सर्वाधिक महत्वपूर्ण रेशम का धागा हैं जिसे महिलाये भावपूर्ण होकर भाई के कलाई पर बांधती हैं पर आज बाजार में अनेक प्रकार की राखियाँ उपलब्ध हैं जिसमे कुछ तो सोने चाँदी की भी हैं| रेशम के सामान्य धागे से बना यह प्यार का बंधन धीरे धीरे दिखावे में तब्दील हो रहा हैं|

स्कूल में रक्षाबंधन का त्योंहार
राखी का पर्व अपने घर के अतिरिक्त स्चूलों में उतने ही प्यार से मनाया जाता हैं| यह विद्यालयों में राखी के अवकाश से एक दिन पहले आयोजित किया जाता हैं| इसमें बालकों की पूरी कलाई बालिकाओं द्वरा रंग बिरंगी राखी से भर दिया जाता हैं| कुछ बालकों की इसमें सहमती नहीं होती हैं परन्तु परिस्थिति के अनुसार उन्हें यह करना पड़ता हैं| सच में यह बहुत रोचक द्रश्य होता हैं|

निष्कर्ष
आज यह त्योंहार हमारी संस्क्रति की पहचान हैं और हर भारतवासी को इस त्योंहार पर गर्व हैं| लेकिन भारत में जहाँ बहनों के लिए इस विशेष पर्व को मनाया जाता हैं वंही कुछ लोग ऐसे भी हैं जो भाई की बहनों को गर्भ में ही मर देते हैं| अगर हमने कन्या भूर्ण हत्या पर जल्द ही काबू नहीं पाया तो मुमकिन हैं एक दिन देश में लिंगानुपात और तेजी से घटेगा और सामाजिक असंतुलन भी|

Best 2 Engineers Day Essay 2021 In Hindi

Best Surgical Strike Day Essay 2021 In Hindi

Best 4  World Ozone Day Essay 2021 In Hindi

 

600 Words Essay

प्रस्तावना
रक्षाबंधन (Raksha Bandhan) का त्योंहार भारतीय त्योंहारों में से एक हैं| रक्षाबंधन का अर्थ- रक्षा का बंधन, एक ऐसा रक्षा सूत्र जो भाई को सभी संकटों से दूर रखता हैं| यह त्योंहार भाई बहन के बीच स्नेह और पवित्र रिश्ते का प्रतिक है| रक्षाबंधन के त्योंहार को हम पूरे भारतवर्ष में सदियों से मनाते चले आ रहे हैं| आजकल इस त्योंहार पर बहने अपने भाई के घर राखी और मिठाइयाँ ले जाती हैं| भाई राखी बांधने के पश्चात अपनी बहन को दक्षिणा स्वरूप रूपये देते हैं या कुछ उपहार देते हैं|

रक्षाबंधन का महत्व
रक्षाबंधन (Raksha Bandhan) का पर्व भाई बहन का प्रमुख त्योंहार हैं जिनसे हमारा कोई सबंध नहीं हम उन्हें भी इस पर्व के माध्यम से भाई बहन बना सकते हैं| रक्षाबंधन का ऐतिहासिक महत्व भी हैं| चित्तोडगढ की रानी कर्णावती ने जब देखा की उनकी सेना बहादुर शाह के सैन्य बल के आगे नहीं टिक पायेगी| ऐसे में रानी कर्णावती ने बहादुर शाह से मेवाड़ की रक्षा हेतु हुमायूँ को राखी भेजी| हुमायूँ ने अन्य धर्म से सबंध रखने के बावजूद राखी के महत्व के वजह से बहादुर शाह से युद्ध कर रानी कर्णावती को युद्ध में विजय दिलवाई|

राखी के प्रचलित कहानियों में द्दापर की एक कहानी भी प्रचलित हैं| एक बार श्री कृष्ण की उंगली कट जाने पर द्रोपदी ने अपनी साड़ी के एक कोने को फाड़ कर कृष्णजी के हाथ पर बांध दिया| कथानुसार द्रोपदी के सबसे मुश्किल समय में श्री कृष्ण ने उस साड़ी के एक टुकड़े का कर्ज द्रोपदी का चीर हरण होने से बचा कर निभाया| वह साड़ी का टुकड़ा कृष्ण ने राखी समझ कर स्वीकार किया था|

रक्षाबंधन कब मनाया जाता हैं
रक्षाबंधन (Raksha Bandhan) एक हिन्दू त्योंहार हैं जो प्रतिवर्ष श्रावन मास (जुलाई – अगस्त) की पूर्णिमा के दिन मनाया जाता हैं सावन में मनाये जाने के कारण इसे सावनी या सलूनो भी कहते हैं| रक्षाबंधन का त्योंहार 2021 में 22 अगस्त (रविवार) को मनाया जायेगा|

रक्षाबंधन पर बहनें भाइयों की दाहिनी कलाई पर राखी बांधती हैं ओत उनके अच्छे स्वास्थ्य और लम्बे जीवन की कामना करती हैं| वही दूसरी तरफ भाइयों द्वरा अपनी बहनों की हर हाल में रक्षा करने का संकल्प लिया जाता हैं|

रक्षाबंधन मनाने की विधि
रक्षाबंधन (Raksha Bandhan) पर बहने सुबह स्नान करके पूजा की थाली सजाती हैं| पूजा की थाली में कुमकुम, राखी, रोली, अक्षत, दीपक, तथा मिठाई राखी जाती हैं| उसके बाद घर के पूर्व दिशा में भाई को बैठा कर उसकी आरती उतारी जाती हैं, सर पर अक्षत डाला जाता हैं, माथे पर कुमकुम का तिलक किया जाता हैं| फिर कलाई पर राखी बांधी जाती हैं| अंत में मीठा खिलाया जाता हैं| भाई के छोटे होने पर बहनें भाई को उपहार देती हैं अपितु भाई बहनों को उपहार देते हैं|

रक्षाबंधन पर सरकारी सहयोग
भारत सरकार द्वरा रक्षाबंधन (Raksha Bandhan) के अवसर पर डाक सेवा पर छुट दी जाती हैं| इस दिन के लिए खास तौर पर 10 रूपये वाले लिफाफे की बिक्री की जाती हैं| इस 50 ग्राम के लिफाफे में बहन एक साथ 4-5 राखी भाई को भेज सकती हैं| जबकि सामान्य 20 ग्राम के लिफाफे में एक राखी ही भेजी जा सकती हैं| या ऑफर डाक विभाग द्वरा बहनों को दिया जाता हैं इसलिए यह सुविधा रक्षाबंधन तक ही उपलब्ध रहती हैं| दिल्ली, राजस्थान समेत कई राज्यों में बस, ट्रेन, और मेट्रो में राखी के अवसर पर महिलाओ से टिकट नहीं लिया जाता हैं|

निष्कर्ष
हमारे पूर्वजो द्वरा बनाये गए त्योंहारो, उपवास व् त्योंहार की विधि विधान हमारी सभ्यता संस्क्रति के रक्षक हैं| यह सब हमारी पहचान हैं इसलिए हमें इसे बदलने का प्रयास नहीं करना चाहिए| राखी का भाइयों बहनों के लिए एक खास महत्व हैं| इनमे से कई सारे बहन एक दुसरे से व्यावसायिक और व्यक्तिगत कारणों से मिल नहीं पाते लेकिन इस विशेष अवसर पर वह एक दुसरे के लिए निशिचत रूप से समय निकालकर इस पवित्र पर्व को मनाते हैं जो कि इसकी महत्ता को द्रषता हैं|

Best 2 Grandparents Day Essay 2021 In Hindi

Best 2 Teachers Day essay 2021 (Short & Long) In Hindi

Best 2 Holi Essay In Hindi 2021 ( होली पर निबंध )

अगर आपके पास अच्छे विचार है तो जरुर कमेंट के माध्यम से भेजे अच्छा लगने पर हम उसे Best 3 Raksha Bandhan Essay 2021 In Hindi लेख में शामिल करेंगे और साथ ही  इस पोस्ट को whatsapp, Facebook और Social Media पर Share करें|

Leave a Comment