Best Holi Essay 2021 In Hindi

आजकल School और Collage में बच्चो को Holi Essay लिखने को दिया जाया जाता हैं| यंहा  Best Holi Essay (800 Words)  दिया गया हैं इस Holi Essay को  आप Exam, Test & Compitition में उपयोग ले सकते हैं|

Long Holi Essay 800 Words (होली पर निबंध 800 शब्द)

होली भारत का एक प्रसिद्ध त्योंहार हैं| यह प्रमुख रूप से भारत और नेपाल में मनाया जाता हैं| मंजीरा, ढोलक, म्रदंग की ध्वनि से गूंजता रंगों से भरा होली का त्यौहार फाल्गुन माह के पूर्णिमा को मनाया जाता हैं| इस त्योंहार में सभी की ऊर्जा देखते बनती हैं पर सबसे अधिक बच्चे खुश होते हैं वह रंग बिरंगी पिचकारी को अपने सीने से लगाये हुए सब पर रंग डालते और जोर जोर से होली है कहते भागते हैं|

 

Holi Essay
Holi Essay

Best Holi Essay 2021 In Hindi

प्रस्तावना-

होली का उत्सव अपने साथ सकरात्मक ऊर्जा लेकर आता हैं और आसमान में बिखरें गुलाल की तरह ऊर्जा को चारों ओर बिखेर देता हैं| इस पर्व की खास तैयारी में भी लोगों के अंदर बहुत अधिक उत्साह को देखा जा सकता हैं|

पुराने समय में होली के अवसर पर जंहा मंदिरों में कृष्ण और राम के भजन गूंजते थे वंही नगरो में लोगों द्वारा ढोलक मंजीरो के ताल पर लोकगीत गाये जाते थे लकिन बदलते समय के साथ इस त्यौहार का स्वरूप भी बदलता नजर आ रहा हैं|

अपना घर चलाने के लिए जो पेशेवर घरों से दूर रहते हैं वह भी होली के समय पर अपने परिवार के पास लौट आते हैं| यह त्योंहार हमें हमारें संस्कृति से जोड़ने का कार्य करता हैं| अत: इस द्रष्टी से यह हमारे लिए बहुत अधिक महतवपूर्ण हैं|

Best 25 Holi Wishes Shayari 2021 In Hindi

Best 30 Birthday Wishes Status 2021 In Hindi

होली का इतिहास-

होली का त्योंहार मनाने के पीछे एक प्राचीन इतिहास हैं| प्राचीन समय में हिरनकश्यप नाम का एक राक्षस हुआ करता था| उसकी एक दुष्ट बहन थी जिसका नाम होलिका था| हिरनकश्यप खुद को भगवान मानता था| हिरनकश्यप के एक पुत्र था जिसका नाम प्रहलाद था| वे भगवान विष्णु के बहुत बड़े भक्त थे जबकि हिरनकश्यप उनका विरोधी था| हिरनकश्यप ने उनको विष्णु की भक्ति करने से बहुत रोका लकिन प्रहलाद ने उनकी एक नहीं सुनी|

इससे नाराज होकर हिरनकश्यप ने प्रहलाद को जान से मारने का प्रयास किया उन्होंने अपनी बहन होलिका से मदद मांगी क्योंकि होलिका को आग में न जलने का वरदान मिला हुआ था| उसके बाद होलिका प्रहलाद को लेकर चिता में बैठ गयी लेकिन जिस पर विष्णु की कृपा हो उसे क्या हो सकता हैं और प्रहलाद आग में सुरक्षित बचे रहे जबकि होलिका उस आग में जल कर भस्म हो गयी

होली कैसे मनाई जाती हैं-

होली बुराई पर अच्छाई की जीत होती हैं| आज भी सभी लोग लकड़ी, घास और गोबर के ढेर को रात में जलाकर होलिका दहन करते हैं| उसके अगले दिन सब लोग एक दुसरे को गुलाल, अबीर और तरह तरह के रंग डालकर होली खेलते हैं| होली सच्चे अर्थो में भारतीय संस्क्रति का प्रतीक हैं जिसके रंग अनेकता में एकता को दर्शाते हैं| लोग एक दुसरे को प्रेम स्नेह से गुलाल लगाते हैं और सांस्क्रतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता हैं साथ ही लोकगीत गाये जाते हैं और एक दुसरे का मुंह मीठा करवाते हैं|

भारत में होली का उत्सव अलग अलग प्रदेशो में अलग अलग तरीके से मनाया जाता हैं| आज भी ब्रज की होली सारे देश में प्रसिद्ध हैं| लठमार होली जो की बरसाने की हैं वो भी काफी प्रसिद्ध हैं| इसमें पुरुष महिलाओ पर रंग डालते हैं और महिलाये पुरुषो को लाठियों तथा कपडे के बनाये गए कोड़ो से मारती हैं| इसी तरह मथुरा और वृन्दावन में भी 15 दिनों तक होली का पर्व मनाते हैं| हरियाणा की धुलंडी में भाभी द्वारा देवर को सताये जाने की प्रथा प्रचलित हैं|

होली का महत्व-

होली के पर्व से जुड़े होलिका दहन के दिन परिवार के सभी सदस्य को हल्दी, सरसों,व दही का लेप लगाया जाता हैं| ऐसी मान्यता हैं की उस दिन इसे लगाने से व्यक्ति के सभी रोग दूर हो जाते हैं| इस दिन गाँव के सभी घरो से एक एक लकड़ी होलिका में जलाने के लिए दी जाती हैं| आग में लकड़ी जलने के साथ लोगों के सभी विकार भी जल कर नष्ट हो जाते हैं|

निष्कर्ष-

फाल्गुन की पूर्णिमा से उड़ते गुलाल व ढोलक की ताल से शुरू हुयी होली भारत के कोने कोने में विभिन्न प्रकार से हर्षोल्लास के साथ मनाई जाती हैं| होली पर सभी मस्ती में डूबे नजर आते हैं| जंहा सामान्य व्यक्ति अनेकों प्रकार के स्वादिष्ट भोजन तथा ठंडाई का सेवन करते हैं| वंही मनचलों को नशे में धुत होकर अपनी मनमानी करने का एक अवसर प्राप्त हो जाता हैं| इस पर्व के आन्नद में सभी आपसी मन मुटाव को भूल कर एक-दुसरे के गले लग जाते हैं|

अगर आपके पास अच्छे विचार है तो जरुर कमेंट के माध्यम से भेजे अच्छा लगने पर हम उसे Best Holi Essay 2021 In Hindi लेख में शामिल करेंगे और साथ ही  इस पोस्ट को whatsapp, Facebook और Social Media पर Share करें|

Leave a Comment