Best Teachers Day Speech 2021 In Hindi

दोस्तों कैसे हो आप | सबसे पहले मैं आपको Teachers Day की ढेरों बधाईया देना चाहता हूँ| उम्मीद करता हूँ जिस तरह से आप अच्छा कर रहे हैं वैसा करते हुए आप अपने Annual Exam में भी अच्छा करेंगे|

Teachers Day का हमारे जीवन में बहुत महत्त्व हैं क्योंकि साल में एक बार Teachers Day के दिन गुरु अपने छात्रों से मान सम्मान की उम्मीद करते हैं| Teachers Day के दिन सभी विद्यार्थी  अपने मनपसंद टीचर को उनकी पसंद का  गिफ्ट देतें हैं और अपने Speech के माध्यम से उनके द्वरा दी गयी शिक्षा का व्याख्यान करते हैं

आज हम आपके लिये Teachers Day Speech ले कर आये हैं जो आपको बहुत पसंद आयेंगे|अगर आप भी अपने  विद्यालय में  Teachers Day Speech बोलना चाहतें  हैं तो तो निचे दिए गए Best Teachers Day Speech 2021 In Hindi  में से इसका चुनाव कर सकते हैं|

Best 20 Teachers Day Shayari 2021 In Hindi

Best 55 Teachers Day Quotes 2021 In Hindi

Best 2 Teachers Day essay 2021 (Short & Long) In Hindi

Teachers Day Speech
Teachers Day Speech

 

Teachers Day Speech 2021 (  शिक्षक दिवस 2021  पर भाषण ) :

आदरणीय शिक्षकों और मेरे सभी साथियों को सुप्रभात।

आज 5 सितंबर को हम सभी यहां शिक्षक दिवस मानाने के लिए एकत्र हुए हैं। सबसे पहले यहां मौजूद सभी शिक्षकों और शिक्षिकाओं को शिक्षक दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं। इस अवसर पर अपने विचार आप सभी के सामने व्यक्त करने का अवसर देने के लिए मैं आप सभी का आभारी हूं। शिक्षक दिवस को अंग्रेजी में टीचर्स डे भी कहते हैं।

अन्य देश शिक्षक दिवस अलग-अलग तारीखों में मनाते हैं, जबकि अंतर्राष्ट्रीय शिक्षक दिवस या विश्व शिक्षक दिवस हर साल 5 अक्टूबर को मनाया जाता है। जबकि भारत में राष्ट्रीय शिक्षक दिवस 5 सितंबर को मनाया जाता है।

इस दिन देश के पूर्व राष्ट्रपति डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन का जन्म हुआ था। जबकि उन्हें भारत के पहले उपराष्ट्रपति और भारत के दूसरे राष्ट्रपति होने के लिए जाना जाता है, लेकिन उससे पहले वे  एक विद्वान और बहुत बड़े शिक्षक थे। उन्होंने अपने जीवन के 40 वर्ष एक शिक्षक के रूप में अपने दायित्वों को पूरा किया। शिक्षा के क्षेत्र में उनका बहुत बड़ा योगदान रहा है। उनके शिक्षा के प्रति लगन और शिक्षकों के प्रति आदर को देखते हुए उनके जन्म दिन को शिक्षक दिवस के रूप में मनाया जाने लगा।

कहानी यह  तब की है जब उनके छात्रों ने उनसे उनका जन्म दिन मनाने की अनुमति देने का अनुरोध किया, तो उन्होंने जोर देकर कहा कि अपना जन्मदिन अलग से मनाने के बजाय, 5 सितंबर को शिक्षक दिवस के रूप में मनाया जाए तो यह मेरे सौभाग्य की बात होगी। उसके बाद 1962 से भारत में 5 सितंबर को शिक्षक दिवस के रूप में मनाया जाने लगा।

इस दिन छात्र अपने शिक्षकों को उपहार भेंट करते हैं। शिक्षक दिवस के अवसर पर स्कूलों में विशेष कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं। सीनयर छात्र स्कूल कॉलेज में शिक्षक की भूमिका निभाते हैं और शिक्षक दिवस पर क्विज, शिक्षक दिवस पर कविता, शिक्षक दिवस पर कहानी, शिक्षक दिवस पर दोहे, शिक्षक दिवस पर भाषण और शिक्षक दिवस पर निबंध प्रतियोगिता का भी आयोजन किया जाता है। राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री समेत सभी लोग डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन के साथ साथ अपने गुरु को याद करते हैं, उन्हें उपहार देते हैं।

हमारे माता – पिता हमें जन्म देते हैं। शिक्षक हमें सही और गलत का फर्क बता कर हमारे चरित्र का निर्माण करते हैं। शिक्षक सही मार्ग दर्शन के साथ हमारे भविष्य को उज्जवल बनाते हैं। इसलिए कहा जाता है कि शिक्षकों का स्थान हमारे माता – पिता से भी ऊपर होता है। शिक्षा के बिना हम अपने जीवन की कल्पना भी नहीं कर सकते हैं। जिस प्रकार हमारे शरीर को भोजन की आवश्यकता होती है उसी प्रकार हमें जीवन में आगे बढ़ने और ऊंचाइयों को हासिल करने के लिए शिक्षा की जरुरत होती है। सभी छात्रों को निस्वार्थ भाव से एक शिक्षक ही शिक्षा प्रदान कर सकता है। शिक्षक हमारे अंदर की बुराइयों को दूर कर हमें एक बेहतर इंसान बनाते हैं।

हमारे जीवन में शिक्षकों के इस योगदान के लिए हमें अपने शिक्षकों का हमेशा आदर और सम्मान करना चाहिए। टीचर्स डे पर मैं सभी शिक्षकों का आभार व्यक्त करता हूं। एक बार फिर से आप सभी को शिक्षक दिवस की हार्दिक बधाई।

धन्यवाद

Leave a Comment