Best 3 Vijayadashami Essay In Hindi 2021

इस दिन का हिन्दू धर्म में बहुत महत्व है। इस दिन को विजयदशमी भी कहा जाता है क्योकि इस दिन अच्छाई की बुराई पर जीत हुई थी। इस दिन भगवन श्री राम ने लंका के राजा रावण का वद्ध करके माता सीता को उसके कैद से मुक्त करवाया था। इस दिन का बहुत जगह लोगो के अंदर उमंग और आनंद की अनुभूति होती है।

अगर आप भी अपने विद्यालय या कार्यस्थल पर Vijayadashami Essay या Dussehra Essay लिखना चाहते हैं तो निचे दिए गए Best 3 Vijayadashami Essay 2021 In Hindi में से इसका चुनाव कर सकते हैं|

Best 3 Vijayadashami Essay In Hindi 2021

Vijayadashami Essay
Vijayadashami Essay

100 Words Vijayadashami Essay

दशहरा का त्योहार भारतीय संस्कृति के वीरता का पूजक, शौर्य का उपासक है। कुछ लोगों का मत है कि यह कृषि का उत्सव है। दशहरे का सांस्कृतिक पहलू भी है। इस दिन बच्चे मेला घूमने जाते है और मैदान में रावण का वध देखने जाते है।

कहा जाता है कि विजयादशमी के दिन भगवान राम ने लंका नरेश अहंकारी रावण का वध किया था। दशहरा भगवान राम और माता दुर्गा दोनों का महत्व दर्शाता है। रावण को हराने के लिए श्री राम ने मां दुर्गा की पूजा की थी और आर्शीवाद के रूप में मां ने रावण को मारने का रहस्‍य बताया था।

Vijayadashami Jokes In Hindi

Vijayadashami  shayari & Status In Hindi

Vijayadashami  Quotes & Sms In Hindi

200 Words Vijayadashami Essay

लंका के दस सिर वाले राक्षस राजा रावण ने अपनी बहन शूर्पणखा की बेइज्जती का बदला लेने के लिये राम की पत्नी माता सीता का हरण कर लिया था। जिस दिन भगवान राम ने रावण को मारा उसी दिन से दशहरा का उत्सव मनाया जा रहा है।

इस उत्सव का संबंध नवरात्रि से भी है क्योंकि नवरात्रि के उपरांत ही यह उत्सव होता है और इसमें महिषासुर के विरोध में देवी के साहसपूर्ण कार्यों का भी उल्लेख मिलता है। दशहरा या विजया दशमी नवरात्रि के बाद दसवें दिन मनाया जाता है। इस दिन राम ने रावण का वध किया था।

इस दिन सड़कों पर बहुत भीड़ होती है। लोग गाँवों से शहरों में दशहरा मेला देखने आते है। जिसे दशहरा मेला के नाम से जाना जाता है। इतिहास बताता है कि दशहरा का जश्न महारो दुर्जनशल सिंह हंडा के शासन काल में शुरू हुआ था। रावण के वध के बाद श्रद्धालु पंडाल घूमकर देवी माँ का दर्शन करते हुए मेले का आनंद उठाते है।

राम ने अपने शरण आए रावण के भाई विभीषण को लंका का राजा बना दिया और पत्नी सीता को लेकर अयोध्या की ओर प्रस्थान किया। रामलीला में इन घटनाओं का विस्तृत दृश्य दिखाया जाता है।

Diwali Essay In Hindi

Diwali Jokes & Funny Sms In Hindi

600 Words Vijayadashami Essay

प्रस्तावना :

दशहरा या विजयदशमी का त्योहार बड़ी धूमधाम से मनाया जाता है। आश्विन शुक्ल दशमी को मनाया जाने वाला दशहरा यानी आयुध-पूजा हिन्दुओं का एक प्रमुख त्योहार है। भगवान राम ने रावण को मारने के लिये देवी चंडी की पूजा की थी।

दशहरा शब्द की उत्पत्ति: 

दशहरा या दसेरा शब्द ‘दश'(दस) एवं ‘अहन्‌‌’ से बना है। दशहरा उत्सव की उत्पत्ति के विषय में कई कल्पनाएं की गई हैं। भारत कृषि प्रधान देश है। जब किसान अपने खेत में सुनहरी फसल उगाकर अनाज रूपी संपत्ति घर लाता है तो उसके उल्लास और उमंग का ठिकाना हमें नहीं रहता।

इस प्रसन्नता के अवसर पर वह भगवान की कृपा को मानता है और उसे प्रकट करने के लिए वह उसका पूजन करता है। तो कुछ लोगों के मत के अनुसार यह रण यात्रा का द्योतक है, क्योंकि दशहरा के समय वर्षा समाप्त हो जाते हैं, नदियों की बाढ़ थम जाती है, धान आदि सहेजकर रखे जाने वाले हो जाते हैं।

दशहरा का मेला :

ऐसे कई जगह है जहां दशहरा पर मेला लगता है, कोटा में दशहरा का मेला, कोलकाता में दशहरा का मेला, वाराणसी में दशहरा का मेला, इत्यादि। जिसमें कई दुकानें लगती है और खाने पीने का आयोजन होता है।

रामलीला का मंचन :

उत्तर भारत के विभिन्न प्रांतों में रामलीला का मंचन होता है। रावण अत्याचारी और घमंडी राजा था। उसने राम की पत्नी सीता का छल से अपहरण कर लिया था। सीता को रावण के चंगुल से मुक्त कराने के लिए राम ने वानरराज सुग्रीव से मैत्री की। वे वानरी सेना के साथ समुद्र पार करके लंका गए और रावण पर चढाई कर दी, भयंकर युद्ध हुआ। इस युद्ध में मेघनाद, कुंभकर्ण, रावण आदि सभी वीर योद्धा मारे गए। रामलीला में श्रीराम का मर्यादा पुरुषोत्तम रूप उजागर होता है।

दशहरा के बारे में महत्वपूर्ण तथ्य:

1.कहा जाता है कि अगर रावण का वध भगवान राम ने नहीं किया होता तो सूर्य हमेशा के लिए अस्त हो जाता।
2. दशहरा का महत्व इस रूप में भी होता कि मां दुर्गा ने दसवें दिन महिषासुर राक्षस का वध किया था।
3. महिषासुर असुरों को राजा था, जो लोगों पर अत्याचार करता था, उसके अत्याचारों को देखकर भगवान ब्रह्मा, विष्‍णु और महेश ने शक्ति (माँ दुर्गा) का निर्माण किया, महिषासुर और शक्‍ति (माँ दुर्गा) के बीच 10 दिनों तक युद्ध हुआ और आखिरकार मां ने 10 वें दिन विजय हासिल कर ली।

4. ऐसी मान्यता है कि नवरात्र में देवी मां अपने मायके आती हैं और उनकी विदाई हेतु लोग नवरात्र के दसवें दिन उन्हें पानी में विसर्जित करते हैं।
5. एक मान्यता यह भी है कि श्री राम ने रावण के दसों सिर यानी दस बुराइयाँ को ख़त्म किया जो हमारे अंदर, पाप, काम, क्रोध, मोह, लोभ, घमंड, स्वार्थ, जलन, अहंकार, अमानवता और अन्‍याय के रूप में विराजमान है।
6. ऐसा लोगों का मानना है की मैसूर के राजा के द्वारा 17वीं शताब्दी में मैसूर में दशहरा मनाई गयी थी।
7. मलेशिया में दशहरा पर राष्ट्रीय अवकाश होता है, यह त्योहार सिर्फ भारत ही नहीं बांग्लादेश और नेपाल में भी मनाया जाता है।

निष्कर्ष :

हिन्दू धर्मग्रंथ रामायण के अनुसार, ऐसा कहा जाता है कि देवी दुर्गा को प्रसन्न करने और आशीर्वाद प्राप्त करने के लिये राजा राम ने चंडी होम कराया था। इसके अनुसार युद्ध के दसवें दिन रावण को मारने का राज जान कर उस पर विजय प्राप्त कर लिया था।

अंततः रावण को मारने के बाद राम ने सीता को वापस पाया। दशहरा को दुर्गोत्सव भी कहा जाता है क्योंकि ऐसा माना जाता है कि उसी दसवें दिन माता दुर्गा ने भी महिषासुर नामक असुर का वध किया था। हर क्षेत्र के रामलीला मैदान में एक बहुत बड़ा मेला आयोजित किया जाता है जहाँ दूसरे क्षेत्र के लोग इस मेले के साथ ही रामलीला का नाटकीय मंचन देखने आते है।

Diwali Shayari & Status In Hindi

Diwali Quotes & SMS In Hindi

अगर आपके पास अच्छे विचार है तो जरुर कमेंट के माध्यम से भेजे अच्छा लगने पर हम उसे Best 3 Vijayadashami Essay 2021 In Hindi लेख में शामिल करेंगे और साथ ही  इस पोस्ट को whatsapp, Facebook और Social Media पर Share करें|

Leave a Comment